Andhvishwas in Hindi

Islam aur Andhvishwas

अंधविश्वास और इस्लाम

हर इंसान किसी न किसी तरह अन्धविश्वास पर यकीन रखता है अन्धविश्वास जिसकी कोई हकीकत होती ही नहीं है ,आज हम आपको अंधविश्वास की हकीकत को andhvishwas in hindi में बातएंगे

ये भी पढ़े – अस्तग्फार की दुआ

इस्लाम में अंधविश्वास की क्या अहमियत है ?

इस्लाम में अंधविश्वास का कोई अस्तित्व नहीं यह सिर्फ वहम है, हदीस में अंधविश्वास से रोका गया है सबसे बड़ी बदकिस्मती इंसान की अपना बुरा काम और खराब किरदार हैं

जो आज मुख्तलिफ तरीकों से हर घर में हो रहा है और यह गलत कार्य और ना फरमानिया अल्लाह के कहर और लानत की वजह बनती है इनसे बचना चाहिए और आखिर में इस्लाम नहुसत का कायल नहीं है

इसलिए किसी काम या दिन को मनहूस समझना गलत है उंगलियां चटकाना ना मुनासिब है और अगर जमाई आए तो मुंह पर हाथ रखने का हुकुम है

ये भी देखे Tasbeeh and Janamaz

अंधविश्वास की कोई हकीकत नहीं

बहुत जगह यह बात मशहूर है कि कुंवारे लड़के या लड़की के पतीले और कडाही में खाना खाने से उनकी शादी में बारिश का अंदाजा कर लेते हैं यह भी बिल्कुल गलत बात है

अक्सर लोग दुमदार(दुम वाले) सितारे के जाहिर होने को मनहूस समझते हैं और कहते हैं कि जब यह सितारा जाहिर होता है तो इंसानों पर मुसीबत आती है और मुल्क में जंग शुरू हो जाती है यह बिल्कुल गलत है यह एक अंधविश्वास है और इस्लामी शरीयत से इसका कोई ताल्लुक नहीं

सुबह सवेरे किसी को गाली देने ठोकर लग जाने या और कोई तकलीफ पहुंच जाने पर शाम तक इसी तरह होते रहने का अंदाजा लगा लेना यह बेअसल और खिलाफ ए शरियत है

रात को कुत्ते के रोने से कुछ लोग समझते हैं कि सुबह इस बस्ती में मौत होने वाली है यह ख्याल बिलकुल गलत है

ये भी पढ़े : Surah Naas in Hindi

इंसानो से जुड़े Andhvishwas in Hindi

जब किसी बंदे के बारे में बात हो रही हो और वह मौजूद ना हो और बात पूरी होने के कुछ देर बाद या उसी वक्त वह बंदा आ जाए तो कहा जाता है यह बंदा लंबी उम्र वाला है शरीयत में इसका भी कोई सबूत नहीं है

कुछ लोग यह समझते हैं कि आदमी की बाई आंख और औरत की दाई आंख फड़कने से कोई मुसीबत या गम और उसके बरअक्स होने से खुशी आती है यह ख्याल बिलकुल गलत है इसकी भी शरीयत में कोई हैसियत नहीं है

कुछ लोग किसी काम के लिए जाते वक्त बिल्ली के सामने से गुजर जाने से उस काम में नाकामी होने का ख्याल करते हैं यह ख्याल भी बिल्कुल गलत है

बहुत से दुकानदार सवेरे सामान उधार देने से इसलिए मना कर देते हैं कि अगर हमने सुबह सवेरे ही उधार दिया तो शाम तक हमारा सामान उधार ही बिकेगा यह सिर्फ अंधविश्वास है, हां अगर किसी और वजह से उधार ना दें तो और बात है

ये भी पढ़े : Surah Kafirun in Hindi

मशहूर है कि जिस घर में मकड़ी के जाले हो जाते हैं उस घर वाले कर्ज में डूब जाते हैं इसकी भी कोई सबूत नहीं हां घर को मकड़ी के जालों वगैरह से साफ रखना अच्छी बात है और सफाई सुथराई अल्लाह को बहुत पसंद है

लोगों में यह गलतफहमी है कि नमाज का मुसल्ला का कोना उलट ना शैतान को इबादत से रोकने के लिए है यह बिल्कुल गलत है मुसल्ले का कोना उलटना तो इसलिए है कि नमाज से फारिग होने के बाद बीला जरूरत मुसल्ला ना बिछा रहे

और खराब ना हो जबकि कुछ लोग यह समझते हैं कि शैतान नमाज पढ़ता है यह बिल्कुल ही गलत बात है और इस रवाज की कोई असल नहीं और यह अकीदा बिल्कुल गलत है

नोट : इस आर्टिकल को लिखने में मसाइल शिर्क व बिदात किताब की मदद ली गई है

https://www.youtube.com/watch?v=avrO-fuiK0w

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.