आप के लिए ख़ास

ताज़ा तरीन आर्टिकल

  • नमाज़े जनाज़ा की दुआ नियत और तरीका
    जनाजे की नमाज का तरीका बहुत से लोगों को नहीं पता है लेकिन जनाजे की नमाज में भी बहुत सारे फजीलत है।इसे पढ़ना भी बहुत जरूरी होता है अल्लाह पाक जनाजे की नमाज पढ़ने वाले लोगों से बहुत खुश होते हैं क्योंकि जो नमाज जो दुआ दूसरों के लिए अदा की जाती है अल्लाह पाक उन्हें कुबूल फरमाते हैं और उनसे बहुत खुश होते हैं
  • सच्चा मोमिन कौन है ?
    सच्चा मोमिन वही होता है जो अल्लाह पाक को दिल से याद करें और हमेशा उनका जिक्र करें । जिसे अल्लाह की याद से ही सुकून मिलने लग जाए वही है सच्चा मोमिन। सच्चे मोमिन तकब्बुर नही करते अल्लाह फरमाते है सच्चा मोमिन वही है जो अपनी दुआओं में दूसरो को याद रखे। हम आपको सच्चे मोमिनों की कुछ निशानियां बताने जा रहे है
  • सदका खैरात करने की फ़ज़ीलत
     क्या आप जानते हैं इस्लाम में सदका खैरात करने की फ़ज़ीलत क्या होती है जब कोई मुसलमान भाई अल्लाह की राह में मांगने वाले गरीबों और फकीरो पर अपने माल और दौलत को खर्च करता हैं। तो उसको सदक़ा खैरात कहते हैं। इस बारे में बहुत सी हदीसें सामने आई हैं। उन सब के बारे में जननेगे। तो आज की आर्टिकल में हम लोग जानने की कोशिश करेंगे आखिर इस्लाम में सदका खैरात करने की फ़ज़ीलत क्या-क्या है।
  • इस्लाम में सलाम की अहमियत
    क्या आप जानते हैं इस्लाम में सलाम की भी अहमियत होती है जब किसी मुसलमान भाई किसी मुसलमान भाई से मुलाकात करता है। तो सबसे पहले सलाम करने का हुकुम होता है। अगर कोई मुसलमान भाई किसी मुसलमान भाई को सलाम करता है तो उसको सलाम का जवाब भी देना बहुत ही जरूरी होता है यह एक सुन्नत है।
  • इस्लाम में अमानत की अहमियत क्या हैं
    ऐ ईमान वालो अल्लाह और उसके रसूल के साथ ख्यानत न करो के तुमने अल्लाह तआला से अमानत ली थी और अल्लाह के रसूल ने तुम्हे अमानत के बारे में बता दिया था, इस अमानत के खिलाफ खयानात न करो, और जो आमनाते तुम्हारे मौज़ूद है उनको ठीक-ठीक इस्तेमाल करो, अमानत का सबसे पहला मफ़हूम ये है।
  • इस्लाम में कबीरा गुनाह और सग़ीरा गुनाह क्या है?
    इस्लाम में कबीरा गुनाह और सग़ीरा गुनाह क्या होता है आज के आर्टिकल में जानेंगे की कबीरा गुनाह और सग़ीरा गुनाह क्या है? हर गुनाह की दो किस्म है और दोनो किस्म के गुनाहों से तौबा करना लाजिम है। सग़ीरा गुनाह छोटे-छोटे गुनाह होते हैं जबकि कबीरा गुनाह बड़े-बड़े गुनाह होते हैं। तो इस आर्टिकल को पूरा आखिर तक पढ़े और समझने की कोशिश करें सग़ीरा गुनाह और कबीरा गुनाह क्या होते हैं।