शौहर बीवी की अनोखी लड़ाई | Shohar Biwi Ki Anokhi Ladai

शौहर बीवी की अनोखी लड़ाई | Shohar Biwi Ki Anokhi Ladai

अभी तक आप लोगों ने शौहर बीवी | Shohar Biwi के बहुत सारे झगड़े सुने होंगे लेकिन ऐसा झगड़ा नहीं सुना होगा तो चलिए आप लोगों को एक अनोखी शौहर बीवी | Shohar Biwi की दास्तान

Coronavirus Vaccine In hindi | Herd immunity meaning

Coronavirus Vaccine In hindi | Herd immunity meaning

Coronavirus Vaccine In hindi | CoronaVirus vaccine का हमे काफी समय से इंतजार है, यह कब आएगी अभी तक हमने 3 clinicalTrials में प्रवेश किया है और आगे हम और भी बढ़ोतरी करेंगे परंतु यह कब लोगों के हाथ में आएगी और कब लोगों को यह Vaccine दी जाएगी बहुत ही बड़े स्तर पर चलिए जानते हैं इसके बारे में और जानते हैं, कैसे Vaccine काम करती हैं और कैसे एक बीमारी को हम खत्म कर सकते हैं। Coronavirus Vaccine In hindi

शाहीन बाग प्रदर्शन क्या है? और क्यों हो रहा है

शाहीन बाग प्रदर्शन क्या है? और क्यों हो रहा है

Shaheen Bagh Protest : शाहीन बाग प्रदर्शन क्या है आजकल पूरे देश और दुनिया में शाहीन बाग प्रदर्शन का बार-बार जिक्र हो रहा है तो क्या है ऐसा इस प्रदर्शन में आइए जानते हैं शाहीन बाग प्रदर्शन शांतिपूर्ण प्रदर्शन की एक मिसाल है जो कि अब पूरे देश में शांतिपूर्ण प्रदर्शन के लिए प्रेरणादाई है…

Islam Me Damad Ke Hukuk Sasural Per
|

Islam Me Damad Ke Hukuk Sasural Per

इस्लाम में हर रिश्ते के कुछ न कुछ हक़ और हुक़ूक़ होते है जिनको पूरा करने का हमे हुक्म दिया गया है और उनका अहतराम भू बताया गया है उनमे एक ये भी है Islam Me Damad Ke Hukuk Sasural Per.

Ma Baap Ka Huq
|

Ma Baap Ka Huq

मां बाप का औलाद पर बहुत बड़ा हक होता है मां जो कि हमें पैदा करने के लिए इतनी तकलीफ है उठाती है हमें बड़ा करने के लिए रात रात भर सोती नहीं है नीम को कुर्बान कर देती है और बाप कि हमारे परवरिश के लिए कोई कमी नहीं छोड़ता है वह खुद मेहनत करता है लेकिन हमें कोई परेशानी नहीं होने देता है मां बाप अपनी औलाद के लिए हर तरह की परेशानी से लड़ते हैं अगर कोई मां-बाप अपने बच्चे से नाराज हैं और उस बच्चे की मौत हो जाती है तो उस बच्चे की बक्शीश भी नहीं होती है

Beta Aur Beti Me Fark (2022)

Beta Aur Beti Me Fark (2022)

जैसा कि हमारा समाज बहुत तरक्की कर चुका है लेकिन कुछ मायनों में वह अभी भी बहुत पीछे हैं जैसे हमारे समाज की एक बहुत बड़ी बुराई है कि उसमें बेटा बेटी में फर्क किया जाता है बेटे को हर मायने में अच्छा समझा जाता है और बेटी को हर मायने में कमतर समझा जाता है बेटे की शिक्षा में कभी पैसों का हिसाब नहीं रखा जाता है