Coronavirus Vaccine In hindi | Herd immunity meaning

Coronavirus Vaccine In hindi

Coronavirus Vaccine In hindi | दिन-ब-दिन भारत की Corona Virus से स्थिति बहुत खराब होती जा रही है, रोजाना 70 हज़ार Cases दर्ज हो रहे हैं, तथा अभी तक 35 लाख Cases आ चुके हैं, कोरोना वायरस के , तथा 60 हज़ार मौते हो चुकी हे इसके कारण, यह सब देखते हुए आपके मन में भी सवाल आता होगा कि , इसे रोकने का विकल्प क्या है ,क्या हम इसे रोक सकते हैं, आप सबके इन सवालों का सिर्फ एक ही जवाब है वो है, Vaccine या फिर Herd Immunity. Coronavirus Vaccine In hindi

यह भी पढ़े । Education portal

Vaccine क्या होती है, तथा काम कैसे करती है?

वैक्सीन एक प्रकार की दवा होती है, जो कि एक इंसान में एक बीमारी को होने से रोकने के लिए लगाई जाती है , जब तक उसको वह बीमारी ना हुई हो, कुछ इस तरह समझे वैक्सीन एक इंसान को तब लगाई जाती है जब वह स्वस्थ हो और एक दवाई तब दी जाती है, जब उसे वह बीमारी हो चुकी हो, वैक्सीन का काम बहुत ही Simple होता है | Coronavirus Vaccine In hindi

एक Vaccine के अंदर एक बीमारी के मरे हुए या फिर कमजोर Viruses को डाला जाता है, ताकि हमारा Immune system उस बीमारी के लिए Anti bodies बनाए और अगर अगली बार जब यह वापस हमारे शरीर में आए तब हमारी Antibodies उसे खत्म कर दें। Coronavirus Vaccine In hindi

परंतु या एक नया तरीका है, बीमारियों से लड़ने का, तथा यह काफी हद तक कारगर भी है, हमने इससे बहुत सी बीमारियों को खत्म किया है जैसे पोलियो और आदि । Coronavirus Vaccine In hindi

Antibodies क्या होती है?

सामान्य रूप से Antibodies हमारे शरीर में उपलब्ध होती हैं, हर बीमारी के खिलाफ लेकिन इन्हें बनने में काफी समय लगता है, इनका काम होता है अगर कोई भी अनजान Virus या Bacteria शरीर में आए तो उसे वही खत्म कर दें, और अंदर ना जाने दें, ताकि वह हमें कुछ नुकसान ना पहुंचा सके Anti bodies बनने में कुछ दिनों का समय लगता है,

और ये Antibodies हमारा Immune system बनाता है , एक वायरस या bacteria को अच्छे से समझने के बाद, तथा Anti-Bodies ही वह चीज होती है, जो कि हमें एक बीमारी से बचने में मदद करती हैं, तथा उन्हें हराने में भी । Coronavirus Vaccine In hindi

Herd Immunity क्या होती है, तथा काम कैसे करती है?

ये एक सदियों पुराना तरीका है, किसी महामारी को खत्म करने का, Herd Immunity एक तरीक़ा है जिसमें महामारी को रोकने के लिए कुछ भी नहीं किया जाता है, तथा इसे फैलने दिया जाता है, वह महामारी खुद बा खुद ही रुक जाती है, जैसे समझिए अगर किसी देश की जनसंख्या 100 लोगों की है, तो अगर उस देश में 80 लोगों को एक बीमारी हो गई है|

तो अब वह बीमारी और लोगों तक नहीं फेहल सकती है, कुछ इसी तरीके से हमारी मानव पीढ़ी आगे बढ़ी है, और आज यहां तक पहुंची है , हमने सारी महामारीओं को ऐसे ही खत्म किया है, Herd Immunity की वजह से, लेकिन इससे जाने बहुत जाती हैं, एक Herd Immunity को प्राप्त करने के लिए हमें लाखों जानो का बलिदान देना होगा तब जाकर हमें यह Herd immunity मिलेगी|

लेकिन, इस कोरोना महामारी में हम Herd Immunity का सहारा नहीं ले सकते हैं, क्योंकि अब हम बहुत Develope हो चुके हैं, और अब हम इतनी सारी जाने जाना बर्दाश्त नहीं कर सकते है। Coronavirus Vaccine In hindi | Herd Immunity

भूतकाल में महामारियों का इलाज

Corona Virus इकलौती महामारी नहीं है, इस दुनिया में हर 100 साल में एक न एक महामारी तो ज़रूर आती है, जैसे 1918 का Spanish flu जिसने लाखों जान ली थी, लेकिन हम हर बार महामारियों से सिर्फ Herd Immunity की वजह से ही जीत जाते हैं,

Herd Immunity प्राप्त करने के लिए बहुत सी जाने जाती हैं. तथा हमने 1900 के बाद ही से Vaccine का इस्तमाल करना शुरू किया है। और कभी कभी हमने महामारी रोकी भी नहीं है, जैसे The Black death यह महमारी अभी भी हो सकती है, अगर यह बढ़ाती है । Coronavirus Vaccine In hindi

वैक्सीन आने में इतना समय क्यों लगता है?

तो आप लोग सोच रहे होंगे कि,अगर वैक्सीन एक विकल्प है, तो हम वैक्सीन बनाते क्यों नहीं,हम Vaccine को बनाकर लोगों में बांट क्यों नहीं देते हैं ताकि ये महामरी रुक जाए ,इसका साधारण सा जवाब है, परीक्षण एक Vaccine को बनाने में, बहुत सी Stages होती है, Exploratory Stage, pre Clinical trial and Clinical trials. Coronavirus Vaccine In hindi

Vaccine बनाने का process

यह भी पढ़े |Education Portal

Exploratory Stage

यह एक Vaccine को बनाने का सबसे पहला चरण है, इसमें वैक्सीन को डिजाइन किया जाता है, वायरस को देखकर इसमें वायरस की सारी स जानकारी ली जाती और उसको देखा जाता है, और उसके खिलाफ कुछ ऐसी दवाइयां बनाई जाती है, जिससे उसे थोड़ा कमजोर किया जा सके , यह सब होता है उसके RnA को लेकर, जो कि Viruses से लिया जाता है, यह बहुत ही कम समय में हो जाता है, इसे मिलने में सिर्फ 10-15 देने का समय लगता है इसके मिलने के बाद वैक्सीन तो बन जाती है पर अब यह जाती है Pre-Clinical Stage में . तथा एक वैक्सीन को एक में कम से कम 1 महीना लगता है बनने के लिए | Coronavirus Vaccine In hindi

Pre-Clinical trials

यह एक वैक्सीन को बनाने के लिए दूसरा चरण होता, इसमें मूल रूप से जानवरों पर परीक्षण किया जाता है, जानवर जैसे बंदर ,चूहा को वैक्सीन लगाई जाती है, तथा उनमें यह जांच आ जाता है ।

कि उनमें इसका कुछ बुरा असर तो नहीं दिख रहा है, तथा कुछ दुष्प्रभाव तो नहीं दिख रहा है उनके शरीर पर तथा ये उनके लिए हानिकारक तो नहीं है ,और अंत में क्या यह हम इसे आगे दे सकते हैं, इंसानों को In Clinical phrase. इस चरण में सफलतापूर्वक निकलने के लिए एक वैक्सीन को 1 से 2 महीन लगते हैं और कभी-कभी सालों भी लग जाते हैं । Coronavirus Vaccine In hindi

Clinical trials

यह आखरी चरण होता है एक वैक्सीन का परीक्षण करने के लिए, तथा इसमें भी तीन अलग-अलग चरादनो में परीक्षण किया जाता है, वो भी इंसानों पर किया जाता है, जो कि स्वस्थ है, वह भी तीन चरण है 1 Clinical trials,2 Clinical trials and 3 Clinical trials | Coronavirus Vaccine In hindi

इसमें बहुत ही छोटे स्तर पर लोगों को वैक्सीन के Doses दिए जाते हैं, 10 से 100 लोगों को इसमें Vaccine के डोज दिए जाते हैं, ज्यादातर और , और इसमें यहां देखा और ज़ाचा जाता है कि इसके कोई दुष्प्रभाव तो नहीं हो रहे हैं इंसान पर, अगर इसका कम से कम प्रभाव होता है, इंसान पर तब यह वैक्सीन दूसरे चरण में जाती है । इसमें भी 1 से 2 महीने का समय लग सकता है ।

इस चरण में वैक्सीन 100 से 1000 लोगों तक भी दी जाती है, और इसमें भी यहां देखा जाता है, कि वैक्सीन का कोई दुष्प्रभाव तो नहीं हो रहे हैं, जब दोनों चरणों में वैक्सीन सफल हो जाती है, तब वह तीसरे चरण में जाती है। इस मैं भी 2 से 3 महीन लग सकते हैं । Coronavirus Vaccine In hindi

इसमें बहुत ही बड़े स्तर पर लोगों को वैक्सीन दी जाती है, लगभग-लगभग 10000 से 15000 लोगों को ये वैक्सीन दी जाती है, और इसमें भी वही जांचा जाता है, कि वैक्सीन के कोई दुष्प्रभाव तो नहीं हो रहे है सभी प्रकार के मनुष्यों में।

जब सफल पूर्वक एक Vaccine तीनों चरणों से निकल आती है, बिना किसी दुष्प्रभाव या फिर कम से कम प्रभाव से तो फिर इसका उत्पादन करने के लिए सरकार से तथा बड़ी-बड़ी Organisation से Certification या Order लेना पड़ता है। उसमें भी 2-3 महीने का समय लगता है |

एक Vaccine के बड़े स्तर पर प्रोडक्शन करने के लिए कम से कम 5 से 6 महीने का समय लगता है तथा इन 5-6 महीने में, एक कंपनी 100 करोड़ Doses बना सकती है, कुछ कंपनियां है जैसे Serum Institute जोकि 150 doses तक बना सकती हैं।

यह सब देखते हुए अब आप यह सोच सकते हैं कि एक वैक्सीन को बनने में कम से कम 1 साल लगता है । Coronavirus Vaccine In hindi

कुछ Vaccine और वो अभी कोंस चरण पर है ।

अभी तक वैक्सीन बनाने की Race में 160 Candidate भाग ले चुके है, जिसमें से कई बहुत आगे हैं और बहुत सारे बहुत पीछे हैं,उनमें से कुछ है

Vaccine tracker

India की तीन कंपनियां है, नाम है- ICMR और Bharat biotech की Covaxin जो कि अभी परीक्षण के 3 चरण पर है, Zydus-Candila की zyCov-D जो की 2 चरण पर है, और Serum Institute की Covidshield 2 चरण पर ।

America की Mordena – यह पहली वैक्सीन थी जिसने इंसानों पर परीक्षण शुरू किया था, और इसने इंसानों पर परीक्षण 14 मार्च से शुरू कर दिया था । यहां भी अपने तीसरे चरण पर है ।

England की AstraZeneca जो कि Oxford university और Astra जो कि एक Swedish company को है, दोनों साथ में मिलकर बना रहे है । यहां भी अपने तीसरे चरण पर है ।

चीन की Sinovac यह भी अपने तीसरे चरण पर है। Coronavirus Vaccine In hindi

Vaccine कितने की मिलेगी

तो अगर हम भारत की बात करें तो Serum Institute ने Bill and के साथ 1200 करोड़ की डील करी है, जिसमें उन्होंने कहा है कि वह वैक्सीन का दाम ₹200 से ₹300 में रखेंगे और अभी तक किसी और ने भारत में अपनी वैक्सीन का दाम अभी तक नहीं बताया है।

America की महागी में बेची जाएगी, और यह माना जा रहा है कि इसका दाम ₹3500 से लेकर ₹5000 तक हो सकता है क्योंकि बहुत ज्यादा है ।

चीन की Sinovac का दाम भी बहुत ज्यादा होगा माना जा रहा है, कि यह ₹5000 से लेकर ₹10000 के बीच में भी हो सकता है | Coronavirus Vaccine In hindi

Russia की Sputnik-V

Russia पहला देश बना है, जिसने एक Corona Virus vaccine लांच की हो, Russia ने जुलाई में ये ऐलान किया था, कि उन्होंने अपने देश कोरोना वैक्सीन बना ली है, तथा उन्होंने उस का सफल परीक्षण भी कर लिया है, पर इसके बाद इन पर बहुत से सवाल उठे इसके परीक्षण को लेकर ।

क्योंकि इन्होंने 3 clinical trials में सिर्फ 1 हजारी लोगों को यह वैक्सीन दी थी , जो कि बहुत कम है एक Vaccine के परीक्षण के लिए तथा यहां सब देखते हुए अभी तक इस वैक्सीन को अप्रूवल नहीं मिला है और शायद मिले भी ना जब तक कि अपने सारे क्लिनिकल ट्रायल्स कंप्लीट ना करले । Coronavirus Vaccine In hindi

Vaccine से पहले संक्रमण कैसे रोके?

देखिए वैक्सीन के पहले एक भारत जैसे बड़े देश में इसका संक्रमण रोकना बहुत बहुत मुश्किल है, क्योंकि भारत की आबादी भी बहुत है, तथा वैक्सीन के पहले हम बस संक्रमण कम कर सकते हैं,खत्म नहीं कर सकते है । Coronavirus Vaccine In hindi

Conclusion

इसका निष्कर्ष काफी आसान है हमें वैक्सीन तक रुकना होगा हम बस संक्रमण कम कर सकते है, अतः Vaccine आने में अभी भी 4 से 6 महीने तो लग ने हीं लगने हैं, क्योंकि अभी कुछ भी स्पष्ट तरीके से नहीं कहा जा सकता है कि वैक्सीन कब आएगी कब लोगों को मिलेगी पर हम यह तो जरूर ही कह सकते है की अगले साल तक लोगों के हाथों में Vaccine आ जाए । Coronavirus Vaccine In hindi | और जाने

2 Comments

  1. Hello, the new article are good like 4-5 latest ones, but the old are worthless, I like the new it presented good, I think its hard task, for you
    Content is amazing, and Also you improved the website
    .

Leave a Reply

Your email address will not be published.